उत्तर प्रदेशदेशप्रदेशमुख्य समाचार

आखिरकार उज्जैन में धरा गया यूपी का मोस्टवांटेड विकास- खाकी का काल आखिर क्यूं पहुंचा महाकाल

दूर तलक जाएंगे गिरफ्तार विकास के सियासी मायने-अब विकास के बहाने पुलिस कहां तक पहुंचेगी, किस किस की खुलेगी कलई और किसके सिर सजेगा विकास का ताज

जनआवाज़, लखनऊ, जुलाई 09-2020

संजय श्रीवास्तव.

कानपुर के 8 पुलिसकर्मियों का हत्यारा विकास दूबे आखिरकार धरा गया वो भी उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर से। एमपी पुलिस ने उसे यूपी पुलिस को सौंप दिया है, कुल मिलाकर योगी की पुलिस विकास के मामले में नकारा ही साबित हुई या यहां भी पुलिस और विकास के बीच सुर लय ताल मिले हुए हैं, ये कहना पूरी तरह से कोई नकार नहीं सकता। आखिर विकास के हत्थे चढ़ते ही यूपी में बीजेपी के प्रवक्ता जो कल तक टीवी चैनलों पर बोल नहीं पा रहे थे वो आज बड़े बड़े दावे करते नजर क्यूं आने लगे , वो अब ये कह रहे हैं कि विकास यूपी में पकड़ा नहीं जाता ठोंक दिया जाता क्योंकि बाबा उसे छोड़ने वाले नहीं थे लेकिन अब कई सवाल उठने लगे हैं कि जब यूपी पुलिस को ठोंकना ही था तो उसकी गिरफ्तारी का ढोल क्यों पीटा गया मंदिर से पकड़कर सीधे कहीं ले जाकर ठोंक देते जैसा कि अमूमन एनकाउंटर के बहाने पुलिस करती आई है। जरा देखिए कि कैसे विकास को धरा गया उज्जैन में और उसके कुछ घंटे बाद ही लखनऊ में उसकी पत्नी और बेटे को भी धर लिया गया।

गैंगस्टर विकास गिरफ्तार
उज्जैन में धरा गया यूपी का मोस्टवांटेड विकास

अब सवाल ये कि आखिर विकास की पत्नी और बेटे जब लखनऊ में ही थे तो यूपी पुलिस उनतक क्यों नहीं पहुंच पाई, और जैसे ही विकास उज्जैन में पकड़ाया वो लोग यहां पकड़ लिए गए।

बहुत संक्षिप्त में लेकिन सवाल कई हैं जो अब लोगों के दिमाग में कौंध रहे हैं उनमें से एक सवाल जो सबसे बड़ा है वो ये कि जिंदा विकास को पकड़ने के मायने अब सियासी लगने लगे हैं, पहले तो वो खुद सियासतदानों की ही देन है जो इतना बड़ा गुंडा बन बैठा, लेकिन अब उसके जिंदा पकड़ने के पीछे बड़ी सियासत की बू भी आने लगी है, आने वाले समय में वो सत्ता की हनक का शिकार और दूसरे सियासी दलों का रसूख गिराने का मोहरा ना बन जाए……..दूर की तस्वीर का धुंधला चेहरा तो फिलहाल अभी यही दिख रहा है कि अब विकास के जरिए कौन कौन से सियासी लोगों का दाग़दार चेहरा या चेहरा दाग़दार होगा?

लखनऊ से संजय श्रीवास्तव जनआवाज़ के लिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *